Rohit says ideal number four is Dhoni, differs with Kohli | उप-कप्तान रोहित ने कहा- 4 नंबर पर बल्लेबाजी के लिए धोनी आदर्श


  • ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज के पहले मुकाबले में 5वें नंबर पर बैटिंग करने उतरे थे धोनी
  • धोनी ने 96 गेंदों पर 51 रनों की पारी खेली, विश्वकप के लिए उनकी फॉर्म पर सवाल उठे
  • ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 289 रन का लक्ष्य दिया था, टीम इंडिया 34 रन से मैच हार गई

Dainik Bhaskar

Jan 12, 2019, 08:32 PM IST

सिडनी. ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहला वनडे 34 रनों से हारने के बाद भारतीय टीम के उप-कप्तान रोहित शर्मा ने कप्तान विराट कोहली के नजरिए से असहमति जाहिर की है। रोहित शर्मा ने कहा कि टीम की ओर से 4 नंबर पर बैटिंग के लिए एमएस धोनी आदर्श हैं। हालांकि, रोहित ने कहा कि यह मेरा निजी नजरिया है, इस पर आखिरी फैसला कोच और कप्तान ही करते हैं। इससे पहले कोहली इस पोजिशन के लिए दूसरे बल्लेबाजों पर अंबाती रायुडू को तरजीह देने की बात कह चुके हैं। 

 

ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 289 रन का लक्ष्य दिया था। लेकिन, ऊपरी क्रम के बल्लेबाजों के विफल होने के चलते टीम को हार का सामना करना पड़ा। मैच में रोहित ने 133 रन बनाए। यह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में उनका 22वां शतक था।

हम लोगों को साझेदारी की जरूरत थी- रोहित

  1. रोहित ने कहा- निजी तौर पर मैं हमेशा महसूस करता हूं कि 4 नंबर पर धोनी का बैटिंग करना टीम के लिए आदर्श है। लेकिन, हमारे पास अंबाती रायुडू जैसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने 4 नंबर पर अच्छा परफॉर्म किया है। 

  2. उन्होंने कहा, “मेरी निजी राय से अलग यह पूरी तरह से कप्तान और कोच पर निर्भर करता है कि वह इस पर (बैटिंग ऑर्डर) क्या सोचते हैं। मुझसे निजी तौर पर पूछा जाए तो अगर धोनी 4 नंबर पर बल्लेबाजी करें तो मुझे खुशी होगी।”

  3. रोहित ने कहा, “अगर आप धोनी के करियर की पूरी बैटिंग को देखें तो उनका स्ट्राइक रेट करीब 90 का है। आज की स्थितियां दूसरी थीं। जब वह बैटिंग के लिए आए तो हम पहले ही 3 विकेट खो चुके थे। ऑस्ट्रेलिया काफी अच्छी बॉलिंग भी कर रही थी। आप इतनी आसानी से 100 रन की पार्टनरशिप नहीं कर सकते थे।”


  4. धोनी चीजों को कभी पेंचीदा नहीं बनाते- रोहित

    “हम दोनों ने थोड़ा वक्त लिया। मैं भी उस रफ्तार से रन नहीं बना पा रहा था, जिस रफ्तार से मैं आमतौर पर बनाता हूं। हमें उस वक्त साझेदारी की जरूरत थी, क्योंकि अगर वहां एक और विकेट गिरता तो मैच वहीं पर खत्म हो जाता। हमें साझेदारी के लिए डॉट गेंदें खेलने की जरूरत थी।”

  5. “धोनी के साथ मामला बहुत साधारण रहता है, वे चीजों को पेंचीदा नहीं बनाते हैं। उन्हें 5 नंबर पर आकर बल्लेबाजी करते देखना शानदार था। हम तीन विकेट खो चुके थे, लेकिन धोनी वह लक्ष्य हासिल करना चाहते थे। इतने सालों में उन्होंने दिखाया है कि वह किसी भी नंबर पर बल्लेबाजी करने और टीम के लिए रन बनाने को तैयार हैं।”


  6. धोनी ने 96 गेंदों पर 51 रन बनाए, रोहित के साथ 141 रन की साझेदारी की

    धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 96 गेंदों पर 51 रनों की पारी खेली। उन्होंने रोहित शर्मा के साथ 141 रनों की अहम साझेदारी की। उस वक्त भारत 4 रनों पर तीन विकेट खो चुका था और भारत को 289 रन का लक्ष्य हासिल करने के लिए बड़ी साझेदारी की दरकार भी थी। हालांकि, धोनी की इस धीमी पारी को लेकर सवाल उठ रहे हैं।







Source link