hardik pandya case: coa chief vinod rai wants fast enquiry in pandya rahul case edulji fears of covering up case – पंड्या-राहुल मामले में जल्द जांच चाहते हैं राय, इडुल्जी को ‘लीपापोती’ का डर


नई दिल्ली
बीसीसीआई की प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय निलंबित क्रिकेटरों हार्दिक पंड्या और लोकेश राहुल के टीवी शो में महिलाओं को लेकर की गई अनुचित टिप्पणी मामले में जल्द सुनवाई चाहते हैं। वहीं, पूर्व महिला क्रिकेटर और सीओए सदस्य डायना इडुल्जी को लग रहा कि ऐसा होने पर मामले में ‘लीपापोती’ होने की संभावना है। सीओए में इस मामले की जांच के तरीके पर भी मतभेद है।

पढ़ें,
रोहित का शतक बेकार, सिडनी में भारत को मिली हार

पंड्या और राहुल ने टीवी कार्यक्रम ‘कॉफी विद करण’ में महिलाओं को लेकर अनुचित टिप्पणी की थी जिसके बाद उन्हें मामले की जांच जारी रहने तक निलंबित कर दिया गया। दोनों के शनिवार या फिर रविवार सुबह तक भारत पहुंचने की संभावना है। इडुल्जी और राय के बीच ईमेल के जरिए हुई बातचीत में इडुल्जी ने बीसीसीआई के सीईओ राहुल जोहरी के मामले की शुरुआती जांच करने पर आशंका जताई।

इडुल्जी के मुताबिक, जोहरी खुद यौन उत्पीड़न के मामले में फंसे थे और इससे जांच में लीपापोती की जा सकती है। इडुल्जी के उलट, राय चाहते हैं कि मामले की जांच दूसरे वनडे से पहले पूरी कर ली जाए क्योंकि इसमें देरी से टीम की मजबूती पर असर पड़ेगा। राय का मानना है कि जांच जल्दी पूरी की जानी चाहिए क्योंकि टीम में खिलाड़ियों की संख्या 15 से 13 हो गई है।

पढ़ें,
खाता खोलते ही धोनी ने छुआ यह खास मुकाम

राय ने लिखा, ‘हमें ऐडिलेड वनडे तक फैसला कर लेना चाहिए क्योंकि हम किसी खिलाड़ी के अशिष्ट व्यवहार से टीम को कमजोर नहीं कर सकते।’ डडुल्जी ने राय के जल्दी जांच करने की मांग पर कहा, ‘हमें जांच करने में जल्दबाजी नहीं करनी चाहिए क्योंकि इससे ऐसा लगेगा की मामले की लीपापोती की जा रही है।’ बीसीसीआई की विधि टीम ने इस मामले में तदर्थ लोकपाल की नियुक्ति की मांग की जबकि राय इसमें न्याय मित्र का विचार जानना चाहते हैं। डडुल्जी चाहती हैं कि सीओए और पदाधिकारी जांच का हिस्सा बनें क्योंकि सीईओ की मौजूदगी को ‘गलत नजरिये’ से देखा जाएगा।





Source link