राहुल गांधी अगर ईमानदार है, तो यह काम करें, तब होगा प्रायश्चित

जयपुर – राममंदिर के मुद्दे को लेकर कांग्रेस और भाजपा के बीच बयानबाजी और आरोप-प्रत्यारोप का दौर जारी है। रविवार को हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के राममंदिर पर दिए बयान पर भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी ने सवाल खड़े किए। भाजपा मीडिया सेंटर पर एक प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि राममंदिर पर पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर के अच्छे हिन्दू-बुरे हिन्दू के बयान के बाद अब क्या हुड्डा भी बुरे हिन्दू बनने जा रहे है। उन्होंने कहा कि राममंदिर को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी यह तीन काम कर ले , तो उनका प्रायश्चित पूरा हो जाएगा और पाप से मुक्ति मिल जाएगी। उन्होंने ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ईमानदार हैं तो 1990 में कारसेवकों की हत्या करवाने वाली मुलायम सिंह की सरकार को समर्थन देकर बचाने के लिए माफी मांगे। राहुल गाँधी 1992 में विवादित ढ़ाँचा गिरने के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री पी.वी. नरसिंहराव के द्वारा दिये गये बयान कि वे तथाकथित बाबरी मस्जिद दोबारा बनायेंगे, इस बयान के लिए राहुल गाँधी माफी मांगे। कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल न्यायालय में खड़े होकर यह कहते है कि इस मुद्दे को 2019 के लोकसभा चुनाव के बाद तक ले जाना चाहिए। सुन्नी वक्फ बोर्ड और बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी की ओर से कोर्ट में खड़े होने वाले कपिल सिब्बल को वे वहाँ से हटाये।