सीटें नहीं मिली तो अपने बल पर चुनाव लड़ेंगे:मायावती

लखनऊ – बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की मुखिया मायावती ने साफ कर दिया कि उन्हें विपक्ष की इन बातों में कोई रुचि नहीं है कि ‘लोकतांत्रिक मूल्यों व संविधान को बचाना है’ या ‘देश में सांप्रदायिक सद्भाव के लिए एकजुट होना है।’ वांछित सीटों से वह कोई समझौता नहीं करेंगी। उन्होंने दो टूक कहा कि बसपा महागठबंधन में सीटों के लिए ‘भीख’ नहीं मांगेगी। मायावती ने कहा कि यदि हमारी पार्टी को सम्मानजनक सीटें नहीं मिलीं तो पार्टी अकेले अपने बलबूते पर ही चुनाव लड़ेगी।