डीसी दफ्तर के बाहर अध्यापकों का प्रदर्शन

पटियाला – पंजाब सरकार अध्यापकां दी तनखाह विच्च कटौती करके अध्यापकां दा खून चूस रही है, जे सरकार ने अध्यापकां दा खून ही चूसणा तां हर महीने सीएम नू आपणा खून भेज देया करांगे। ये बातें एसएसए रमसा अध्यापक यूनियन के प्रांतीय प्रधान हरदीप ¨सह टोडरपुर ने मिनी सेक्रेटरिएट के सामने सीएम को भेजने के लिए खून निकलवाते समय व्यक्त की। असल में पंजाब कैबिनेट ने अध्यापकों की तनख्वाहें 42800 से घटाकर 15000 कर दिया गया था, जिसके बाद से ही राज्यभर में अध्यापकों ने इसका विरोध शुरू कर दिया। इसी के अंतरगत शुक्रवार को सीएम को डीसी द्वारा खून की बोतलें भेजने के एक्शन को अंजाम दिया गया। इस दौरान अध्यापकों ने अपने निकाले खून से सेक्रेटरिएट की दीवारों पर भी इस फैसले के विरोध में’तनख्वाह कटौती नहीं मंजूर’जैसे स्लोगन लिखे। इसके बाद उन्होंने डीसी दफ्तर की ओर मार्च किया, हालांकि जब अध्यापक डीसी दफ्तर के बाहर खून की बोतलें लेकर पहुंचे तो उन्हें डीसी नहीं मिले।