अमृतसर : महिला टीचर के साथ वायर हुई अश्लील वीडियो प्रकरण में नामजद चीफ खालसा दीवान के पूर्व प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए भूमिगत चल रहे थे। इस दौरान उनके द्वारा दायर की गई अग्रिम जमानत याचिका पर स्थानीय अतिरिक्त जिला एवं सैशन जज अमरजीत सिंह की अदालत ने हालांकि 10 जनवरी के लिए पुलिस को नोटिस भी जारी कर रखा था, लेकिन इसी बीच चड्ढा के बेटे इन्द्रप्रीत सिंह चड्ढा ने मंगलवार को आहत होकर खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली, जिसके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए चीफ खालसा दीवान के पूर्व प्रधान चरणजीत सिंह चड्ढा ने अदालत में सप्लीमैंटरी याचिका दायर कर दी थी, जिस पर अदालत ने चड्ढा की 10 जनवरी तक के लिए गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है।
अदालत के इस आदेश से साफ हो गया है कि चड्ढा अपने बेटे के शुक्रवार को होने वाले अंतिम संस्कार में शामिल होंगे। मामले संबंधी चड्ढा के कौंसिल एस.एस. चाहल ने बताया कि चड्ढा की तरफ से दायर की गई अग्रिम याचिका पर स्थानीय अतिरिक्त जिला एवं सैशन जज अमरजीत सिंह की अदालत ने सुनवाई के लिए पहले से ही 10 जनवरी की तारीख निश्चित कर रखी थी, लेकिन अचानक चड्ढा के बेटे इन्द्रप्रीत सिंह चड्ढा की मौत के कारण चड्ढा ने अदालत में सप्लीमैंटरी याचिका दायर की थी, जिसमें अदालत से अनुरोध किया गया था कि चड्ढा का अपने बेटे के अंतिम संस्कार में शामिल होना बहुत जरूरी है, लेकिन पुलिस उन्हें गिरफ्तार न करे, इसलिए चड्ढा की अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई होने तक उन्हें अंतरिम जमानत प्रदान किए जाने का अनुरोध किया गया था, जिसे अदालत ने स्वीकार करके चड्ढा की गिरफ्तारी पर 10 जनवरी तक के लिए रोक लगा दी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*