हैड-कांस्टेबल के बेटे को कनाडा भेजने के नाम पर 4.50 लाख की ठगी

रामा मंडी थाने में हैड-कांस्टेबल के बेटे को कनाडा भेजने के नाम पर 4.50 लाख रुपए की ठगी का केस दर्ज हुआ है। हैड-कांस्टेबल से ठगी करने के बाद एजैंट दफ्तर बंद कर भाग गया है। रामा मंडी के बेअंत नगर निवासी जसवीर सिंह पुलिस विभाग में हैड-कांस्टेबल है। वह इन दिनों श्री देवी तालाब मंदिर में गार्द में तैनात है। जसवीर ने बताया कि साल 2016 में उनकी मुलाकात लद्देवाली की पंजाब एवेन्यू कालोनी में किराए पर रहने वाले परमिंदर कुमार से एक धार्मिक समारोह के दौरान हुई थी।

दोस्ती होने पर परमिंदर ने बताया कि उसका बस स्टैंड के पास एम.पी. ट्रैवल्स के नाम से दफ्तर है। उसने झांसा देते हुए कि आजकल कनाडा में एक्सप्रैस एंट्री खुली हुई है। 2 साल का ड्राइविंग का अनुभव चाहिए। आपका बेटा सऊदी अरब में 4 साल ड्राइविंग कर चुका है। उसे आसानी से भेज दिया जाएगा और अच्छी जॉब लग जाएगी। उसने उसे बेटे के साथ अपने दफ्तर बुलाया। बेटे बासु के साथ वह परमिंदर कुमार के दफ्तर पहुंचे और दस्तावेज दिए तो उसने 4.50 रुपए की मांग की। अगस्त 2016 तक उन्होंने 4.50 लाख रुपए दे दिए। परमिंदर द्वारा कोई रसीद न देने पर उन्होंने जब ऐतराज जताया तो उसने एफीडेविट दिया कि वह विदेश न भेज पाया तो सारे रुपए वापस करेगा।

जब कई माह बीत गए तो उन्होंने पता किया तो पाया कि परमिंदर ने दफ्तर बंद कर दिया है और सम्पर्क करने पर वह रुपए वापस करने के लिए टाल-मटोल करने लगा। कुछ दिनों बाद उसने अपना मोबाइल नंबर बंद कर दिया। इसके बाद वे उसके ससुराल बलीना गए और वहां से उसका नया मोबाइल नंबर लाए और फोन किया। कई बार कहने पर उसने एक 4.50 लाख का चैक दिया जो 2 बार बाऊंस हो गया। चैक के बलबूते केस होने के डर से उसने 1 लाख नकद देकर चैक की मांग की लेकिन बाद में उसने फोन पर गालियां दीं। इसके बाद उन्होंने सी.पी. दफ्तर में शिकायत दी। जांच के बाद रामा मंडी पुलिस ने केस दर्ज किया है।