‘स्व्च्छ अभियान’ की ब्रांड एंबेसडर बनी PAK की बच्ची, जानिए क्या है मामला

स्वच्छ अभियान को लेकर बिहार की जिला समिति इतनी गंभीर हो गई कि इसको बढ़ावा देने के चक्कर में अजीब ही कारनामा कर बैठी। बिहार के जमुई जिले में ‘स्वच्छ जमुई स्वस्थ जमुई’ अभियान के लिए जिला समिति ने पाकिस्तान की बच्ची को इसका ब्रांड एंबेसडर बना दिया। जब मामले की सच्चाई समाने आई तो जिला जल एवं स्वच्छता समिति की काफी फजीहत हुई। दरअसल लोगों को जागरूक करने के लिए जल एवं स्वच्छता समिति ने एक नोटबुक तैयार करवाई है जिसके कवर पेज पर एक छोटी बच्ची की तस्वीर लगाई गई। इस तस्वीर को लगाने के लिए तत्कालीन डीएम डॉ. कौशल किशोर ने ही स्वीकृति दी थी। वहीं जब इस तस्वीर पर गौर किया गया तो पाया कि बच्ची पेंटिग प्रतियोगिता में पाकिस्तान का झंडा बना रही है।

ऐसे आया मामला सामने
समिति द्वारा यूज की गई तस्वीर को लेकर जब गूगल पर पड़ताल की गई तो बात सामने आई कि यह बच्ची पाकिस्तान की है और पड़ोसी मुल्क में यूनिसेफ इस तस्वीर का उपयोग शिक्षा के प्रचार-प्रसार में कर रही है। इतना ही नहीं शिक्षा के लिए पाकिस्तान में इस बच्ची की तस्वीर को एक ब्रांड के रूप में भी इस्तेमाल किया जा रहा है।

समिति ने दी सफाई
जिला जल एवं स्वच्छता समिति ने इस नोटबुक की करीब पांच हजार कॉपियां
जिले के सभी स्कूल, आंगनवाडी केंद्रों और कस्तूरबा विद्यालय की बच्चियों के बीच बांट भी दी हैं। वहीं जब इस मामले में पटना की प्रिंटिंग प्रेस सुप्रभ इंटरप्राइजेज से बात की गई तो उन्होंने बताया कि डीएम की मंजूरी के बाद ही तस्वीर लगाई गई है। दूसरीी तरफ समिति के सदस्य सचिव रामनिरंजन चौधरी ने कहा है कि समिति ने नोटबुक छापने की अनुमति दी थी न की कवर पेज पर पाकिस्तानी बच्ची की फोटो छापने की। उन्होंने कहा कि मामले की जांच चल रही है।