सिंधू और श्रीकांत ने इस साल कामयाबी की नई बुलंदियों को छुआ

दुबई: ओलिंपिक रजत पदक विजेता पी वी सिंधू और किदाम्बी श्रीकांत कल से यहां शुरू हो रहे दुबई सुपर सीरिज फाइनल में उतरेंगे तो उनका लक्ष्य भारतीय बैडमिंटन के लिए बेहतरीन रहे इस साल का अंत भी खिताब के साथ करने का होगा।   इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में महिला और पुरूष वर्ग में दुनिया के शीर्ष 8 खिलाड़ी ही भाग लेते हैं। दुनिया की तीसरे नंबर की खिलाड़ी सिंधू और चौथी रैंकिंग वाले श्रीकांत अपने अभियान का आगाज क्रमश: चीन की हि बिंगजियाओ और दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन के खिलाफ करेंगे तो तनिक भी कोताही बरतने की गुंजाइश नहीं होगी ।   सिंधू और श्रीकांत ने इस साल कामयाबी की नई बुलंदियों को छुआ है ।सिंधू ने इंडिया ओपन और कोरिया ओपन जीतने के अलावा ग्लास्गो विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता और पिछले महीने हांगकांग ओपन में उपविजेता रही। दूसरी ओर श्रीकांत एक ही कैलेंडर वर्ष में चार सुपर सीरिज खिताब जीतने वाले भारत के अकेले और दुनिया के चौथे खिलाड़ी बने। उन्होंने इंडोनेशिया ओपन, आस्ट्रेलिया ओपन, डेनमार्क ओपन और फ्रेंच ओपन जीता जबकि जांघ की मांसपेशी में खिंचाव के कारण चाइना ओपन और हांगकांग ओपन नहीं खेल सके।  एक महीने के ब्रेक में उन्होंने फिटनेस और तकनीक पर काफी काम किया और उन्हें उम्मीद है कि दोबारा वही लय हासिल कर लेंगे। उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण टूर्नामेंट है जिसमें 2014 में मैने सेमीफाइनल खेला लेकिन 2015 में लीग चरण से बाहर हो गया था। इससे फर्क नहीं पड़ता। हमें हार को भुलाकर आगे बढना होता है उम्मीद है कि इस साल प्रदर्शन अच्छा होगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*