सवर्ण समाज लामबंद, कॉलेज में प्रवेश नहीं देने का आरोप

बारां – राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय तथा कन्या महाविद्यालय में सवर्ण समाज से जुडे छात्र-छात्राओं को प्रवेश से वंचित कर दिए जाने के खिलाफ सवर्ण समाज लामबंद हो गया है। समाज ने कलेक्टर को ज्ञापन देकर कहा कि प्रथम वर्ष प्रवेश के लिए अंक कसौटी को पार करने वाले छात्र-छात्राओं को अविलम्ब प्रवेश दिया जाए, अन्यथा 14 जुलाई को बारां बंद किया जाएगा। सवर्ण समाज की ओर से सांसद कार्यालय पर प्रदर्शन भी किया गया। हुआ यह कि बारां राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय तथा कन्या महाविद्यालय में संविधान तथा सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के खिलाफ तयशुदा 50 प्रतिशत आरक्षण में छेडछाड़ की गई। महाविद्यालयों में सवर्ण समाज से जुडे छात्र-छात्राओं को प्रवेश से वंचित किया गया। इसके खिलाफ रविवार दोपहर सवर्ण समाज के पदाधिकारियों तथा छात्रों की बैठक हुई। इसमें राज्य सरकार के इस आदेश को सवर्ण समाज के लिए काला कानून बताते हुए इसे तत्काल वापस लेने तथा राजकीय महाविद्यालय के प्रथम वर्ष प्रवेश के लिए अंक कसौटी को पार करने वाले छात्र-छात्राओं को अविलम्ब प्रवेश देने की मांग करते हुए सोमवार को दोपहर अपनी मांगों के समर्थन में सांसद कार्यालय पर प्रदर्शन कर जिला कलक्टर को ज्ञापन देते हुए सात दिन में आदेश को तत्काल वापस लेने की मांग पूरी नही होने पर 14 जुलाई शनिवार को बारां बंद का निर्णय लिया गया है।