श्रीलंका के कैंडी शहर में बौद्ध और मुस्लिम समुदाय के बीच तनाव के कारण हिंसा बढ़ी

 श्रीलंका – श्रीलंका के कैंडी शहर में बौद्ध और मुस्लिम समुदाय के बीच तनाव के कारण हिंसा लगातार बढ़ती ही जा रही है। इसी के कारण स्थानीय सरकार ने मंगलवार  को ही देशभर में 10 दिन के लिए इमरजेंसी लगा दी हैं। अभी तक मिली जानकारी के अनुसार 2 लाेगाें की मौत, 37 घर अौर 46 दुकानाें काे जला दिया गया हैं। जानकारी के लिए अापकाे बता दें, कैंडी में दो दिन पहले मुस्लिम और बौद्ध समुदायों के लोग झड़प हाे गई थी, जिसमें बौद्ध धर्म के शख्स की मौत हो गई। इस दौरान कई मुस्लिम कारोबारियों की दुकानों में आग लगा दी गई। लोकल एडमिनिस्टेशन ने इस हिंसा के बाद शहर और आसपास के इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया। साथ ही अापकाे बता दें, श्रीलंका के कई इलाकों में मुस्लिमों और बौद्धों के बीच रिश्ते सामान्य नहीं हैं। बौद्ध समुदाय का आरोप है कि मुस्लिम संस्थाएं और इनसे जुड़े लोग जबरन धर्म परिवर्तन करा रहे हैं। बौद्ध सिंहलियों का मानना है कि रोहिंग्या मुस्लिमों ने म्यांमार में उनके समुदाय के लोगों पर जुल्म किए जा रहे और परेशान किया जा रहा हैं। स्थानीय सरकार ने हिंसा के दूसरे शहरों में बढ़ते जाने के कारण इमरजेंसी लगा दी हैं। हिंसा पर नियंत्रण के लिए 2 दर्जन से ज्यादा लोगों को भी गिरफ्तार किया जा चुका है। कैंडी के स्थानीय विधायक हिदायथ साथथार ने बताया कि हिंसा के दौरान अब तक 4 मस्जिद, 37 घर, 46 दुकानें और 35 वाहनों को नुकसान पहुंचाया जा चुका है।