विपक्षी नेताओं ने जस्टिस लोया की मौत के मामले में शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से की मुलाकात

नई दिल्ली.विपक्षी नेताओं ने जस्टिस लोया की मौत के मामले में शुक्रवार को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मुलाकात की। बाद में मीडिया से बातचीत में राहुल गाँधी  ने कहा- लोकसभा और राज्यसभा के कई सांसद इस मामले (जस्टिस लोया की मौत) में असहज महसूस कर रहे हैं। उन्हें लगता है कि इस मामले की जांच एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम से कराई जानी चाहिए। बता दें कि सीबीआई के स्पेशल जज बीएच लोया की मौत 1 दिसंबर 2014 को नागपुर में हार्टअटैक से हुई थी। वो सोहराबउद्दीन एनकाउंटर केस की सुनवाई कर रहे थे। लोया की बहन ने उनकी मौत पर शक जताया था। हालांकि, उनके बेटे ने पिता की मौत को ‘नैचुरल डैथ’ करार दिया था। प्रेसिडेंट रामनाथ कोविंद से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा- आज हम जस्टिस लोया की मौत के मामले में राष्ट्रपति जी से मिले। उन्होंने हमें भरोसा दिलाया है कि वो इस मामले को जरूर देखेंगे। राहुल ने आगे कहा- हम चाहते हैं कि इस मामले की जांच एसआईटी से कराई जाए। एक जज की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई है। उनकी फैमली की संतुष्टि के लिए ये जरूरी है कि जांच सही तरीके से हो। 15 पार्टियों के 114 सांसद राष्ट्रपति जी से मिलने गए थे। दो और भी मौतें संदिग्ध हालात में हुई हैं।  5 फरवरी को स्पेशल सीबीआई जज जस्टिस लोया के केस की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट में सीनियर वकीलों में तीखी बहस हुई थी। इस दौरान जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने एडवोकेट दुष्यंत दवे से कहा था, “इस कोर्ट में हमें बहस को मछली बाजार के स्तर पर नहीं लाना चाहिए। जब कोई जज कुछ बोल रहा हो तो आप उसे चिल्लाकर चुप नहीं करा सकते। मिस्टर दवे… आप तब बोलिएगा, जब आपकी बारी आएगी।” बता दें कि SC में जस्टिस लोया की मौत की स्वतंत्र जांच कराए जाने की पिटीशंस पर सुनवाई की जा रही है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*