वाशिंगटन सुंदर मोहाली में भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे दूसरे एकदिवसीय मैच में डेब्यू कर रहे

नई दिल्ली: वाशिंगटन सुंदर मोहाली में भारत और श्रीलंका के बीच खेले जा रहे दूसरे एकदिवसीय मैच में डेब्यू कर रहे हैं। उन्होंने घरेलु क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन दिखाया लेकिन फिर फिटनेस को लेकर दिक्कत आई। हालांकि कुछ समय तक विफल रहने के बाद उन्होंने हाल ही में यो-यो फिटनेस टेस्ट भी पास कर लिया है और अब भारतीय टीम की प्लेइंग 11 में शामिल हो चुके हैं। गौरतलब है कि सुंदर सिर्फ एक ही कान से सुन सकते हैं। बाएं हाथ से बल्लेबाजी और दाहिने हाथ से गेंदबाजी करने वाला यह क्रिकेटर जब महज 4 साल का था तो परिवार को उनकी परेशानी का पता चला। कई अस्पतालों में इलाज हुआ लेकिन बाद में मालूम चला कि ये रोग असाध्य है। सुंदर ने इंडियन प्रीमियर लीग में राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के लिए मिले सीमित मौके का पूरा फायदा उठाया था। उन्होंने स्टीव स्मिथ की अगुआई वाले पुणे सुपरजाइंट को फाइनल में जगह दिलाने में अहम भूमिका निभाई। किसी भी आईपीएल फाइनल में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी के आंकड़े का रिकॉर्ड भी उनके नाम है। गौरतलब है 18 साल के वाशिंगटन सुंदर ने अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में अपनी गेंदबाजी से सबको प्रभावित किया था।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*