वजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर सोशल मीडिया और पंजाब की राजनीति में सुर्खियाें में

चंडीगढ़ – स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से रविवार को कांग्रेस के महाधिवेशन में मांगी गई माफी इस समय सोशल मीडिया पर छाई हुई है। यह पहला बड़ा मौका है जब कांग्रेस के इतने बड़े प्लेटफार्म पर सिद्धू ने मनमोहन से ना केवल हाथ जोड़कर माफी मांगी बल्कि उनकी शान में कई कसीदे भी पढ़े। उन्होंने उनके कामों को जहां भाजपा के शोर से ज्यादा बताया, वही उन्हें एस्ट्रोलॉजर (ज्योतिषी) भी बताया जो अपने अनुभव व ज्ञान से वर्तमान सरकार की नीतियों के बारे में पहले ही आगाह कर देता है। साथ ही उन्हें अरबी घोड़ा भी बताया जिनके शासन में आर्थिक स्थिति कदम दर कदम बेहतर हो रही थी। भारतीय जनता पार्टी में दस साल तक मात्र एक प्रचारक बनकर रह गए नवजोत सिद्धू को जिस तरह से कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्तर पर बोलने का एक मुकाम दिया उससे वे भी गदगद दिखाई दिए। उन्हें ना केवल पार्टी में लाकर कांग्रेस ने पंजाब में एक कैबिनेट मंत्री के रूप में स्थापित किया बल्कि एक सिख के तौर पर भविष्य के नेता के रूप में भी उभारने को स्थान दिया है।