भाजपा के कई बड़े चेहरे और मंत्री चुनाव हारे हैं

चंडीगढ,- प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ राज्यों में भाजपा की करारी हार ने हरियाणा सरकार और पार्टी संगठन को मिशन 2019 की नए सिरे से रणनीति बनाने के लिए मजबूर कर दिया है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार के सवा चार साल के कार्यकाल में भले ही सिस्टम को पटरी पर लाने का दावा किया जा रहा है, लेकिन जिस तरह से तीनों राज्यों में भाजपा के कई बड़े चेहरे और मंत्री चुनाव हारे हैं, उसे देखकर साफ लगा रहा कि हरियाणा में भी कई मंत्रियों व विधायकों की टिकट बदला जाना तय है।
अगले साल होने वाले लोकसभा और विधानसभा चुनाव में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ही हरियाणा में भाजपा का चेहरा होंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इसे कई बार स्पष्ट कर चुके हैं, लेकिन मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में जिस तरह से भाजपा को मात मिली है, उसे देखकर अब मुख्यमंत्री मनोहर लाल को भी कई कड़े फैसले लेने के लिए मजबूर होना पड़ सकता है। हरियाणा में मनोहर लाल की कैबिनेट में उन समेत 14 मंत्री हैं। 47 भाजपा विधायक पिछले चुनाव में जीतकर आए थे।