ब्रिटेन की अदालत ने विजय माल्या को करीब 579 करोड़ रुपये का हर्जाना लगाया

लंदनः  ब्रिटेन की एक अदालत ने भारत में बैंकों के 9000 करोड़ लेकर फरार हुए शराब कारोबारी विजय माल्या को  बड़ा झटका देते हुए उसकी सिंगापुर की एक कंपनी बीओसी एविएशन को 9 करोड़ डॉलर यानी करीब 579 करोड़ रुपये हर्जाने के रूप में लौटाने का आदेश दिया है। कोर्ट के इस आदेश के बाद अब तय है कि अगर माल्या इसे नहीं चुकाते हैं तो उन्हें जेल भी हो सकती है या फिर वे भारत के बाद ब्रिटेन से भी भागने का रास्ता खोजेंगे। बीओसी एविएशन का माल्या की हवाई सेवा किंगफिशर एयरलाइंस पर बकाया था और इसी के एवज में कंपनी ने हर्जाने की मांग की थी। बीओसी एविएशन ने माल्या के खिलाफ लंदन की अदालत में याचिका दायर की थी।  जब भारतीय और दुनिया के आसमान में भी माल्या के किंगफिशर अपने पांव पसार रहे थे  इसी दौरान साल 2014 में किंगफिशर एयरलाइंस ने बीओसी से 4 विमान लीज पर लेने का एग्रीमेंट किया था। बीओसी ने अपने वायदे के अनुसार 3 विमान किंगफिशर को दे भी दिए। उस समय भी कंपनी ने पुराना बकाया नहीं चुकाने के कारण चौथा विमान किंगफिशर को डिलीवर नहीं किया। बीओसी के साथ हुए लीज एग्रीमेंट के अनुसार किंगफिशर को पुराना बकाया और एडवांस दोनों चुकाने थे। लेकिन किंगफिशर ने ऐसा नहीं किया। धीरे-धीरे विजय माल्या और किंगफिशर के बुरे दिन शुरू हो गए। आसमान से बातें करने वाली किंगफिशर एयरलाइंस की उड़ान बंद हो गई। बंद होने के समय तक भी किंगफिशर ने बीओसी एविएशन का बकाया नहीं चुकाया। इस पर बीओसी एविएशन ने आरोप लगाया कि माल्या ने लीज से जुड़े नियमों का उल्लंघन किया है। बीओसी का दावा तो यहां तक था कि लीज समझौते के तहत किंगफिशर की तरफ से जो सिक्योरिटी जमा किया गया था, वह भी कंपनी के बकाये को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*