पत्नियों के साथ मिल कर 75 साल की मां को पीटा

घर में कब्जा करने की नीयत से दो बेटों ने अपनी पत्नियों के साथ मिल कर 75 साल की बुजुर्ग मां को पीट दिया। मां ने जब अपनी बेटी को इस बारे फोन करके बताया तो वह अपने पति व दूसरी बहन के साथ आकर भाइयों से बात करने गई तो उन्होंने इन लोगों से भी मारपीट की। धमकियां मिलने के बाद जब बुजुर्ग मां को उसकी बेटी अपने घर ले गई तो मौका देख कर दोनों बेटों ने घर के ताले तोड़कर कब्जा कर लिया। पहले तो इस बुजुर्ग महिला ने पुलिस को शिकायत नहीं दी, लेकिन बाद में जब बेटे धमकाने लगे तो शिकायत मिलने के बाद थाना रामामंडी की पुलिस ने दोनों बेटों व उनकी पत्नियों पर केस दर्ज कर लिया।
पुलिस को शिकायत में विद्या देवी पत्नी स्व. लक्षमण बोधी निवासी काजी मंडी ने बताया कि उसके पति की मौत के बाद वह घर में अकेली रहती है। दो बेटे अशोक उर्फ राजू व बलविंदर रामामंडी में अपने परिवार समेत रहते हैं। दोनों बेटे मां के घर पर कब्जा करने के लिए कुछ न कुछ विवाद करते रहते थे लेकिन कुछ समय पहले अशोक व बलविंदर ने अपनी पत्नियों के साथ मिल कर विद्या देवी से मारपीट की। मारपीट करके उन्होंने घर से घरेलू सामान व 10 हजार रुपए की नकदी भी चुरा ली। विद्या देवी ने जब इस बारे अपनी बेटी ऊषा रानी को फोन करके बताया तो ऊषा रानी अपने पति व बहन के साथ मां के घर आई। वहां जाकर दोनों भाइयों से बात करनी चाही तो उन्होंने अपनी बहनों व जीजा पर भी हमला कर दिया व उन्हें घर से निकाल दिया। विद्या देवी ने बताया कि बेटों ने उसे पुलिस में शिकायत देने पर धमकाया था जिस कारण उसकी बेटी उसे अपने घर रहने के लिए ले गई। बाद में पड़ोसियों ने फोन करके बताया कि उसके बेटों ने घर के ताले तोड़ कर कब्जा कर लिया व साथ में उनकी पत्नियां भी हैं। इस संबंधी बुजुर्ग महिला ने डी.सी.पी. को शिकायत दी लेकिन कुछ समय बाद जब बेटों पर तरस आया तो शिकायत वापस ले ली। कुछ समय बाद बेटे फिर से बुजुर्ग मां को परेशान करने लगे, जिसके बाद विद्या देवी ने तंग आकर दोबारा से शिकायत दी।
इस मामले की जांच थाना रामामंडी की पुलिस को सौंपी गई, जिसके बाद पुलिस ने विद्या देवी के बेटे अशोक राजू, उसकी पत्नी सीता देवी, दूसरे बेटे बलविंदर व उसकी पत्नी मनजीत पर धारा 380,323,506,34 आई.पी.सी. के अधीन केस दर्ज कर लिया। रामामंडी थाना पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।