पंजाब पुलिस द्वारा तैयार नई मसौदा नीति के तहत कई महत्वपूर्ण परिवर्तन

जालंधर: पंजाब में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार द्वारा पंजाब पुलिस के जवानों को नववर्ष का तोहफा जल्द दिया जा सकता है। सरकारी हलकों से पता चला है कि लिखित परीक्षा पास न करने वाले पुलिस जवानों को भी पदोन्नति मिल सकेगी। इसके लिए जल्द ही नियमों में संशोधन भी किया जा सकता है। गृह विभाग इस समय मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के पास है। राज्य पुलिस के कई जवानों को प्रमोशनें इसलिए नहीं मिल पाती थीं क्योंकि वे लिखित परीक्षा पास करने में सफल नहीं होते थे। पंजाब पुलिस द्वारा तैयार नई मसौदा नीति के तहत कई महत्वपूर्ण परिवर्तन पुलिस जवानों को मिलने वाली प्रमोशनों को लेकर किए जाने हैं। यह नई नीति मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेन्द्र सिंह के विचाराधीन है। अगर नई नीति को मुख्यमंत्री अपनी ओर से मंजूरी प्रदान कर देते हैं तो पुलिस कांस्टेबल जिनका सॢवस रिकार्ड अच्छा होगा तथा जिनकी ए.सी.आर. अच्छी होगी, को परीक्षा पास किए बिना भी प्रमोशन मिल सकेगी। नई नीति में यह प्रावधान किया जा रहा है कि 35 वर्षों की सेवा करने वाले पुलिस मुलाजिमों को इंस्पैक्टर बना दिया जाए। प्रस्तावित नीति के अनुसार कि अगर 6 वर्षों के बाद कोई कांस्टेबल लिखित परीक्षा पास करने में असफल रहता है तो भी उसे हैड कांस्टेबल पदोन्नत करने के लिए उसके नाम पर विचार किया जाएगा। इसी तरह से 24 वर्षों की पुलिस सेवा करने वाले मुलाजिम को सहायक सब इंस्पैक्टर (ए.एस. आई.) बनाया जा सकेगा। 30 वर्ष की सेवा करने वाले को सब इंस्पैक्टर तथा 35 वर्ष की सेवा करने वाले को इंस्पैक्टर बना दिया जाएगा।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*