नवाज शरीफ के बयान का असर

इस्लामाबाद – पाकिस्तान की आतंकरोधी अदालत (एटीसी) ने साल 2008 के मुंबई हमलों की सुनवाई बुधवार को दोबारा शुरू कर दी। कोर्ट ने इस मामले में पिछले दो पाकिस्तानी अभियोजन गवाहों को अपने बयान दर्ज करने के लिए भी बुलाया। पूर्व पाकिस्तानी पीएम नवाज शरीफ के 26/11 हमलों को लेकर कबूलनामे के बाद यह 10 साल पुराना केस फिर से शुरू हुआ है। दरअसल, नवाज शरीफ ने एक इंटरव्यू में माना था कि यह हमला पाकिस्तानी आतंकियों ने किया था और इसकी सुनवाई में देरी के लिए सरकार और सेना को जिम्मेदार ठहराया था।