चीन के विदेश मंत्री वांग यी भारत- चीन सीमा वार्ता में प्रतिनिधि की भूमिका निभा सकते हैं

बीजिंग: चीन के विदेश मंत्री वांग यी सोमवार को स्टेट काउंसलर के रूप में पदोन्नति के बाद भारत- चीन सीमा वार्ता में एक विशेष प्रतिनिधि की भूमिका निभा सकते हैं। भारत के लिहाज से उनकी नियुक्ति बेहद महत्वपूर्ण है। वांग(65) विदेश मंत्रालय के प्रमुख के पद पर भी बने रहेंगे। वह हाल के वर्षों में एक साथ दोनों पदों पर बने रहने वाले पहले चीनी अधिकारी हैं। सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ की खबर के अनुसार, चीनी संसद नेशनल पीपुल्स कांग्रेस में स्टेट काउंसलर और विदेश मंत्री के पद के लिए वांग के नाम का समर्थन किया गया। चीनी प्रधानमंत्री ली क्ंिवग ने राष्ट्रपति शी चिनफिंग की अगुआई वाली सरकार में अगले पांच साल तक विभिन्न पदों के प्रमुख अधिकारियों के नामों की घोषणा की, जिसमें वांग का नाम भी शामिल था। चीन के सत्ता पदानुक्रम में स्टेट काउंसलर का पद विदेश मंत्री के पद से ऊपर और शीर्ष राजनयिक पद माना जाता है। स्टेट काउंसलर पर चीन की कम्युनिस्ट पार्टी( सीपीसी) की नीतियों को लागू कराने की जिम्मेदारी रहती है।