गेहूं प्रबंधों का निरीक्षण करने आए ‘आप’ नेताओं को किसानों ने नहीं दी नेतागिरी चमकाने

नई दाना मंडी में गेहूं खरीद प्रबंधों का आम आदमी पार्टी के जिला प्रधान जतिन्द्र सिंह बब्बू नीलकंठ, हंसराज राणा, दर्शन भगत, गुरिन्द्र सिंह सहित कुछ पार्टी वर्करों ने औचक निरीक्षण किया। बब्बू नीलकं ‘ जिला प्रधान ने कहा कि खरीद प्रबंधों में कोताही बरती जा रही है और सही ढंग से गेहूं की सफाई नहीं की जा रही जिससे फसल तोल में किसान को चूना लगाया जा रहा है व निम्न वर्ग को 2 रुपए मिलने वाली गेहूं की 30 किलो की पैकिंग में 10-10 किलो फसल की छांट मिक्स कर भरी जा रही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने वायदे अनुसार निम्न वर्ग को जो गेहूं देनी ही है तो उसे अच्छी क्वालिटी की दे।

वहीं सीजन दौरान जब जब मंडियों में फ सल की आमद होती है तो फोटो सैशन कर चर्चित होने की इच्छा रखने वाले नेताओं की विजिट मंडी में बढ़ जाती है। मंडी में मुद्दों की तलाश करने के लिए कई बार नेताओं को मुंह की खानी पड़ती है। फोटोबाजी के शौकीन नेताओं ने जिन किसानों की मदद के नाम से चर्चा बटोरने का प्रयास किया, उन किसानों ने ही नेताओं को शांत कर दिया।मंडी में फसल लाने वाले किसानों ने कहा कि वे अपनी जरूरतानुसार फ सल को सूखाने व सफाई के लिए पंखा लगवाते हैं व विभागीय नियमों अनुसार नमी लैवल पूर्ण करके फसल की बोली करवाते हैं व पंखा लगने के बाद फसल में निकली छांट को वे वापस ले जाते है जिससे उन्हें कोई नुक्सान नहीं होता लेकिन आज जब आम आदमी पार्टी के नेताओं ने इस बात को मुद्दा बनाना चाहा तो उसी पल किसान फ्रंट पर आ गए व पार्टी नेताओं को शांत कर दिया। उसके बाद नेता डिपुओं के लिए भरी जा रही गेहूं की बोरियों को मुद्दा बनाने लगे।

तभी सुपरवाइजर रणधीर सिंह ने कमान संभालते हुए कहा कि सरकार ने गेहूं खरीद के लिए सरकारी एजैंसियों को कार्य सौंपा हुआ है और वह फसल को पूर्णतया चैक करके अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गेहूं की प्रत्येक बोरी में थोड़ी-सी मात्रा में गेहूं की तूड़ी जरूर होती है जिसे पिसाई से पहले गृहिणियां धोकर निकालती हैं लेकिन पार्टी नेताओं ने चर्चित होने के लिए कहा कि 30 किलो की प्रत्येक पैकिंग में 10-10 किलो छांट भरी जा रही है। आढ़ती वर्ग ने कहा कि सीजन दौरान फोटोबाजी करने के लिए नेता कई तरह के हथकंडे अपना कर चर्चित होने की कोशिश करते हैं और वे आते वक्त अपने साथ चहेते मीडिया कर्मियों की टीम को साथ लेकर आते हैं जिससे उनको आसानी से पब्लिसिटी मिल सके। आढ़ती एसोसिएशन व मार्कीट कमेटी अधिकारियों ने कहा कि गेहूं की फसल के खरीद प्रबंधों का निरीक्षण खुद डिप्टी कमिश्नर वरिन्द्र कुमार शर्मा व एस.डी.एम. परमवीर सिंह ने किया और वह रोजाना खरीद एजैंसियों से पूरी रिपोर्ट ले रहे हैं। किसानों ने बताया कि उन्हें किसी तरह की कोई समस्या नहीं है तथा नेता अपना नाम चमकाने के लिए मुद्दे बना रहे हैं।