खैहरा की ओर से भी कोई खंडन न करते गुरु साहिब की बराबरी करने की कोशिश

अमृतसर : आम आदमी पार्टी के सांसद साधू सिंह की ओर से विपक्ष के नेता और ‘आप’ के विधायक सुखपाल सिंह खैहरा की खुशामद में उनको मर्द अगंमड़ा कहने का मामला श्री अकाल तख्त साहिब पहुंच गया है। पंथक नेताओं ने जत्थेदार सिंह साहिब ज्ञानी गुरबचन सिंह को एक ज्ञापन देकर दोनों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की अपील की है। शिरोमणि कमेटी सदस्यों एडवोकेट भगवंत सिंह स्यालका, हरजाप सिंह सुल्तानविंड, मंगविन्दर सिंह खापडखेड़ी, भाई अजायब सिंह अभ्यासी और प्रो. सरचांद सिंह ने ज्ञापन में कहा कि सिख साहित्य, इतिहास और परम्परा में मर्द अगंमड़ा केवल सिखों के दशम् गुरु श्री गुरु गोबिन्द सिंह को ही कहा जाता है, जिन्होंने सिखी सिद्धांत और फलसफे को मुकम्मल करने के लिए अत्याचारियों के साथ लोहा लिया और अपना सारा परिवार कुर्बान किया। खालसा बनाते पांच प्यारों को अमृत छकाने उपरांत उनसे ही अमृत की रहमत प्राप्त की। इस कारण उनको मर्द अगंमड़ा कहा जाता है। उन्होंने कहा कि सिख संस्कारों और रीतों से जानकार होने के बावजूद बीते दिनों एक समागम दौरान सांसद साधू सिंह ने सुखपाल सिंह खैहरा की खुशामद समय सारी हदें पार करते उसे मर्द अगंमड़ा कहा, जिसके प्रति खैहरा की ओर से भी कोई खंडन न करते गुरु साहिब की बराबरी करने की कोशिश की गई। इसने सिख हृदयों को भारी ठेस पहुंचाई है, जो अक्षम्य अपराध है, इसलिए उक्त दोनों नेताओं को श्री अकाल तख्त साहिब में तलब करते सिख धर्म की परम्पराओं मुताबिक सजा दी जाए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*