केंद्र सरकार आज नहीं बल्कि कल इस बिल को सदन में पेश करेगी

नई दिल्ली: मुस्लिमों में एक बार में तीन तलाक कहने के चलन को फौजदारी अपराध बनाने संबंधी विधेयक अब बुधवार को राज्यसभा में रखा जाएगा। संसदीय कार्यमंत्री अंनत कुमार ने जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार आज नहीं बल्कि कल इस बिल को सदन में पेश करेगी। वहीं भाजपा ने लोकसभा और राज्यसभा के अपने सभी सांसदों के लिए व्हिप जारी की है। पार्टी ने मंगलवार 2 जनवरी और 3 जनवरी को संसद में पारित होने वाले अति महत्वपूर्ण विधेयकों के दौरान इन सभी सांसदों को उपस्थित रहने को कहा है। तीन तलाक विधेयक लोकसभा में पहले ही पारित हो चुका है।
राज्यसभा की कार्यसूची के अनुसार मुस्लिम महिला (विवाह संबंधित अधिकारों का संरक्षण) विधेयक कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद चर्चा एवं पारित कराने के लिए उच्च सदन में रखेंगे। इस बीच इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग ने दावा किया कि राज्यसभा में यदि यह विधेयक पारित हो जाता है तो विभिन्न मुस्लिम संगठन सुप्रीम कोर्ट की शरण लेंगे।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*