काबुल हमलों से नाराज अफगान प्रेसिडेंट ने मोदी से की बात

काबुल – काबुल में पिछले दिनों हुए दो हमलों में पाकिस्तान का हाथ सामने आने के बाद अफगानिस्तान और पाकिस्तान के रिश्ते बेहद खराब दौर में पहुंच गए हैं। अफगानिस्तान की न्यूज एजेंसी के मुताबिक, काबुल हमलों पर शोक जताने के लिए पाकिस्तान के पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने जब अफगानिस्तान के प्रेसिडेंट अशरफ गनी को फोन किया तो नाराज गनी ने उनसे फोन पर भी बातचीत से इनकार कर दिया। खास बात ये है कि इसी दौरान गनी ने पीएम मोदी से फोन पर लंबी बातचीत की। बता दें कि काबुल के इन दो हमलों में कुल मिलाकर 143 लोग मारे गए थे। अफगानिस्तान का दावा है कि ये हमले पाकिस्तान आर्मी ने कराए और इसके सबूत भी पाकिस्तान को भेज दिए गए हैं। अशरफ गनी द्वारा पाकिस्तान के पीएम से फोन पर बातचीत से इनकार किए जाने की खबर अफगानिस्तान की न्यूज एजेंसी टोलो ने दी है।  खबर के मुताबिक, पाक पीएम अब्बासी ने बुधवार को अशरफ गनी को काबुल हमलों पर शोक जताने के लिए फोन किया। प्रोटोकॉल के तहत अब्बासी ने फोन करने से पहले अफगान प्रेसिडेंट के दफ्तर को एक पहले मैसेज भेजा।  जैसे ही ये मैसेज गनी तक पहुंचा तो उन्होंने अब्बासी से बातचीत करने से साफ इनकार कर दिया। आमतौर पर वर्ल्ड लीडर्स के बीच ऐसे वाकए होते नहीं हैं। लिहाजा, अफगान प्रेसिडेंट का यह कदम बताता है कि वो पाकिस्तान की हरकतों से कितने खफा हैं।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*