उत्तर कोरिया पर दबाव बनाने के लिए अमेरिका का अभियान जारी

वाशिंगटन – उत्तर कोरिया आत्मरक्षा के लिए ही परमाणु हथियार का इस्तेमाल नहीं कर सकता है, बल्कि तानाशाह किम जोंग अपनी सत्ता खतरे में देखकर भी संहारक हथियारों के इस्तेमाल का आदेश दे सकते हैं। यह बात अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीआइए के निदेशक माइक पोंपियो ने कही है। निदेशक ने कहा, अमेरिका तक पहुंचने वाली मिसाइल के एक परीक्षण से किम जोंग उन मानने वाले नहीं हैं। वह अपने हथियारों की गुणवत्ता और उनकी संख्या बढ़ाने के लिए लगातार लगे रहेंगे। एक साल का समय बहुत महत्वपूर्ण है। इस समय में उत्तर कोरिया अमेरिका पर हमले की पर्याप्त ताकत और गुणवत्ता हासिल कर सकता है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*