इंडिया एनर्जी समिट के दौरान दिल्ली सरकार के ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने केंद्र के सामने एक अजीब मांग रखी

नई दिल्ली- समिट में जैन ने कहा, “जब नया-नया मंत्री बना तो केंद्रीय मंत्री से मिला. उनके पास एक लेटर लेकर गया कि हमें बिजली महंगी मिलती है और 2 हजार 2 सौ 65 मेगावाट बिजली सरेंडर करनी है. केंद्रीय मंत्री ने इस पर कहा कि दिल्ली ब्लैक आउट हो जा। एगी मैंने कहा उसकी चिंता मुझ पर छोड़ दो लेकिन केंद्र ने इनकार कर दिया।सत्येंद्र जैन ने बताया कि बिजली के सेक्टर को कॉम्प्लेक्स मुद्दा बना दिया गया है। बिजली बनाने के अलग रेट हैं और बिजली बेचने के अलग रेट हैं।  ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने इंडस्ट्री को बेची जा रही महंगी बिजली पर भी सवाल खड़े किए हैं. जैन ने उदाहरण देते हुए कहा कि आज के जमाने में किसी सेक्टर में गारंटी नहीं मिलती है।ढाई लाख मेगावट बिजली बन रही है लेकिन खपत डेढ़ लाख की है। जब मोबाइल फोन शुरू हुए तब इनकमिंग कॉल 16 रुपये का था लेकिन आज डिमांड भी बढ़ गई है, कॉल रेट सस्ते हो गए और मोबाइल सेक्टर भी बर्बाद नहीं हुआ है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*