अकाल तख्त साहिब से नगर कीर्तन निकाला, दरबार साहिब में आतिशबाजी आज होगी






गुरु गोबिंद सिंह केे प्रकाश पर्व को समर्पित नगर कीर्तन अकाल तख्त साहिब से निकाला गया। गुरु ग्रंथ साहिब की छत्रछाया और पांच प्यारों की अगवाई में नगर कीर्तन के दौरान फूलों से सजी पालकी साहिब में सुशोभित गुरु ग्रंथ साहिब पर चौर (चवर) की सेवा ज्ञानी सुखजिंदर सिंह निभा रहे थे। ज्ञानी सुखजिंदर सिंह ने कहा कि गुरु साहिब का जीवन हक, सच, न्याय और धर्म की रक्षा के लिए दिशा देता है। उन्होंने सिख संगत को अमृतपान करते हुए तैयार बर तैयार खालसा रूप में सजने को कहा। नगर कीर्तन में पंथ को समर्पित निहंग जत्थेबंदियों, धार्मिक टकसालाें, स्कूलों-काॅलेजों के विद्यार्थी, बैंड पार्टियों के अलावा सतनाम श्री वाहेगुरु का जाप करते हुए संगत शामिल थी। इसी दौरान सिख मार्शल आर्ट गतका की कला का प्रदर्शन अलग अलग गतका अखाड़ों की टीमों ने किया। अकाल तख्त साहिब से शुरू हुआ नगर कीर्तन गुरु राम दास निवास, ब्रह्म बूटा मार्किट, चौक घंटा घर, बाजार माई सेवा,कठिया वाला बाजार, बाजार पापड़ां, बाजार बांसा, चौक छती खुही, चावल मंडी, कनक मंडी, ढाब बस्ती राम, चौंक चिंतपूर्णी, जौड़ा पीपल, चौक चबूतरा, चौक बाबा साहिब आैर गुरु रामदास निवास से होते अकाल तख्त साहिब पर संपन्न हुआ। इस मौके पूर्व जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह, मुख्य ग्रंथी ज्ञानी मलकीत सिंह, एसजीपीसी के मेंबर भाई राम सिंह, हरजाप सिंह सुल्तानविंड, मुख्य सचिव डाॅ. रूप सिंह, सचिव मनजीत सिंह बाठ, बलविंदर सिंह जौड़ा सिंघा आदि मौजूद थे।

गुरुद्वारा मंजी साहिब दीवान हाल में कीर्तन समागम होगा

अकाल तख्त साहिब पर नगर कीर्तन का स्वागत करते एसजीपीसी के सदस्य।

अकाल तख्त साहिब पर नगर कीर्तन का स्वागत करते एसजीपीसी के सदस्य।

एसजीपीसी के प्रधान गोबिंद सिंह लोंगोवाल के पीए सुखमिंदर सिंह ने प्रकाश पर्व पर होने वाले समागमों के बारे में बताया कि 13 जनवरी को सुबह 8.30 बजे से 12.00 बजे तक दरबार साहिब, श्री अकाल तख्त साहिब और गुरुद्वारा बाबा अटल राय साहिब में सुंदर जलौ सजाए जाएंगे। रात को 7 बजे से 9 बजे तक गुरुद्वारा मंजी साहिब दीवान हाल में कीर्तन समागम होगा। रात 9 बजे कवि दरबार आरंभ होगा। दरबार साहिब में शाम को दीपमाला होगी और रहरास के पाठ उपरांत आतिशबाजी होगी।

गुरुद्वारा छेहर्टा साहिब: फूलों से सजी गाड़ी पर गुरु ग्रंथ साहिब विराजमान करके नगर कीर्तन निकाला : साहिबे कमाल गुरु गोबिंद सिंह के प्रकाशोत्सव पर एसजीपीसी अौर संगतों के सहयोग से गुरुद्वारा छेहर्टा साहिब से नगर कीर्तन निकाला गया। अरदास उपरांत सुंदर फूलों से सजी गाड़ी पर गुरु ग्रंथ साहिब के सुंदर स्वरुप को विराजमान करके नगर कीर्तन निकाला गया। गुरुद्वारा छेहर्टा साहिब से शुरू हुआ नगर कीर्तन गुरु की वडाली स्थित गुरुद्वारा जन्म स्थान, गुरुद्वारा शहीद सिंहा, गुरुद्वारा बाबा जीवन सिंह से होते छेहर्टा प्रताप बाजार में पहुंचा। वहां के कई दुकानदारों ने नगर कीर्तन का स्वागत फूलों की वर्षा करके किया। वहीं पांच प्यारों को सिरोपे देकर सम्मानित किया गया।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today



Source link